Day: December 29, 2023

Saphala Ekadashi 2024: सफला एकादशी विशेषांक

नमो नारायण…..सफला एकादशी व्रत पौष मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी के दिन किया जाता है. 7 जनवरी रविवार वर्ष 2024 में यह व्रत मनाया जायेगा. इस व्रत को करने वाले व्यक्ति को व्रत के दिन प्राता: स्नान करके, भगवान कि आरती करनी चाहिए और भगवान को भोग लगाना चाहिए. इस दिन भगवान नारायण की …

Saphala Ekadashi 2024: सफला एकादशी विशेषांक Read More »

Paush Amavasya 2024: पौष अमावस्या

नमो नारायण…पौष महीने की अमावस्या को हिंदू पंचांग में बहुत खास माना जाता है,पौष माह में सूर्य धनु राशि में होते हैं जिससे यह माह बहुत अच्छा माना जाता है,अमावस्या के दिन प्रात:काल स्नान करना और दान देने शुभ माना जाता है,वर्ष 2024 में 11 जनवरी गुरुवार को पौष अमावस्या पड़ रही है, अमावस्या सनातन …

Paush Amavasya 2024: पौष अमावस्या Read More »

Makar Sankranti 2024: मकर संक्रान्ति विशेषाङ्क

जय नारायण .. 15 जनवरी के दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते है.इस पर्व को दक्षिण भारत में तमिल वर्ष की शुरूआत इसी दिन से होती है. वहाँ यह पर्व ‘थई पोंगल’ के नाम से जाना जाता है. सिंधी लोग इस पर्व को ‘तिरमौरी’ कहते है. उत्तर भारत में यह पर्व ‘मकर सक्रान्ति के …

Makar Sankranti 2024: मकर संक्रान्ति विशेषाङ्क Read More »

Pausha Putrada Ekadashi 2024: पौष पुत्रदा एकादशी (शुक्ल पक्ष)

जय नारायण .. पुत्रदा एकादशी व्रत वर्ष 2024 में पुत्रदा एकादशी व्रत 21 जनवरी को मनाया जाएगा. हिन्दू पंचांग के अनुसार प्रतिवर्ष पुत्रदा एकादशी का व्रत पौष माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाया जाता है. इस दिन भगवान नारायण की पूजा की जाती है. सुबह स्नान आदि से निवृत होकर स्वच्छ वस्त्र धारण …

Pausha Putrada Ekadashi 2024: पौष पुत्रदा एकादशी (शुक्ल पक्ष) Read More »

Bhadrapad Pradosh Vrat 2024: भौम प्रदोष व्रत

ॐ नमः शिवाय …. प्रत्येक चन्द्र मास की त्रयोदशी तिथि के दिन प्रदोष व्रत रखने का विधान है.यह व्रत कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष दोनों को किया जाता है.सूर्यास्त के बाद के बाद का कुछ समय प्रदोष काल के नाम से जाना जाता है.स्थान विशेष के अनुसार यह बदलता रहता है.सामान्यत: सूर्यास्त से लेकर रात्रि …

Bhadrapad Pradosh Vrat 2024: भौम प्रदोष व्रत Read More »

Sankashti Chaturthi 2024: श्री गणेश संकष्ट चतुर्थी विशेषांक

श्रीगणेशाय नमः ….संकष्टी चतुर्थी व्रत हिन्दू धर्म के अनुसार प्रत्येक माह के शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष में चतुर्थी तिथि को आती हैं.इस दिन भगवान गणेश की पूजा की जाती है ,चतुर्थी के व्रत रखने के बाद चांद के दर्शन जरूरी माना जाता हैं.शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी के नाम से जाना जाता …

Sankashti Chaturthi 2024: श्री गणेश संकष्ट चतुर्थी विशेषांक Read More »

2024 January Month Vrat Parv Special Issue: जनवरी माह व्रत पर्व विशेषाङ्क

II.लब्ध्वा शुभं नववर्षेऽस्मिन् कुर्यात्सर्वस्य मंगलम्.॥ जैसे सूर्य प्रकाश देता है, संवेदना करुणा को जन्म देती है, फूल हमेशा महकता रहता है.इसी तरह, नया साल आपके लिए हर दिन, हर पल मंगलमय हो.। ॐ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्न: सूर्य: प्रचोदयात || नमो नारायण…..आंगल नूतन वर्ष 2024 की आपको हार्दिक मंगल कामना एवं आशीर्वाद,सनातन धर्म में …

2024 January Month Vrat Parv Special Issue: जनवरी माह व्रत पर्व विशेषाङ्क Read More »

Paush Purnima 2024: पौष पूर्णिमा

जय नारायण .. पौष मास की पूर्णिमा को “पौष पूर्णिमा” का पर्व मनाया जाता है. पौष मास की पूर्णिमा को हिंदू पंचांग अनुसार बहुत ही शुभ माना गया है. इस पूर्णिमा के दिन श्री विष्णु पूजन होता है. भगवान सत्यनारायण कथा का पाठ होता है. पौष माह की पूर्णिमा मोक्ष प्रदान करने वाली होती है. …

Paush Purnima 2024: पौष पूर्णिमा Read More »

Pradosh Vrat Dates 2024: प्रदोष व्रत

ॐ नमः शिवाय…..प्रत्येक महीने की कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष को त्रयोदशी तिथियां आती है,प्रत्येक पक्ष की त्रयोदशी तिथि में प्रदोष व्रत किया जाता है,सूर्यास्त के बाद और रात्रि के आने से पहले का समय प्रदोष काल कहलाता है,इस व्रत में भगवान शिव कि पूजा की जाती है,हिन्दू धर्म में व्रत, पूजा-पाठ, उपवास आदि को …

Pradosh Vrat Dates 2024: प्रदोष व्रत Read More »

Gand Mool Nakshatra 2024: वर्ष 2024 में कब कब हैं गण्डमूल

श्री गणेशाय नमः….27 नक्षत्रों में से कुछ नक्षत्र ऐसे माने गए हैं, जिनमें बालिका/बालक का जन्म होना अनिष्टकारी माना जाता है,इन नक्षत्रों में जन्म होना ‘गण्डमूल’ दोष कहलाता है, गण्डमूल नक्षत्र में जन्में जातिका/जातक अपने माता-पिता स्वयं सहित अनेकानेक क्षेत्रों में कष्ट प्रद माने जाते हैं.! यह नक्षत्र दो राशियों की संधि पर होते हैं,एक …

Gand Mool Nakshatra 2024: वर्ष 2024 में कब कब हैं गण्डमूल Read More »