शुक्र ग्रह का अपनी उच्च राशि में प्रवेश,बनेगा मालब्य योग और आपकी राशि पर प्रभाव

'ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री'

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

नमो नारायण…ग्रहों के राशि परिवर्तन का प्रभाव हर व्यक्ति के जीवन पर जरूर पड़ता है,वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रह समय-समय पर राशि परिवर्तन करके एक से दूसरी राशि में गोचर होते हैं,धन, भौतिक सुख, और ऐश्वर्य के कारक ग्रह शुक्र 31 मार्च को अपनी उच्च राशि और गुरु के स्वामित्व वाली राशि मीन में गोचर करेंगे,शुक्र के मीन राशि में गोचर करने से मालव्य राजयोग का निर्माण होगा,मालव्य राजयोग को ज्योतिष में बहुत ही शुभ माना जाता है.!
शुक्र ग्रह 31 मार्च को सायंकालीन 16 बजकर 46 मिनट पर मीन में गोचर करेगा. मीन में शुक्र ग्रह 24 अप्रैल को देर रात्रि समय 23:58 बजे तक रहेगा ह .शुक्र के राशि परिवर्तन से कुछ राशि के जातकों को विशेष लाभ मिल सकता है,30 वर्षों से भी अधिक अवधी का ज्योतिष के क्षेत्र में अनुभव रखने वाले “ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री” जी से जानिए शुक्र ग्रह के अपनी उच्च राशि में प्रवेश करने से बनाने वाले मालब्य योग से आपकी राशि पर प्रभाव पडेगा कैसा प्रभाव.:-

मेष राशि :- शुक्र का यह गोचर आपके बारहवें स्थान पर होगा। जन्मपत्रिका के बारहवें स्थान का संबंध आपके व्यय और शय्या सुख से है। शुक्र के इस गोचर से आपको रातों को आराम मिलेगा। कविता लेखन में आपकी रुचि बढ़ेगी। परिवार और संतान का सुख मिलेगा। इसके अलावा धन-समृद्धि की प्राप्ति होगी और लेकिन इस दौरान किसी और से मदद की अपेक्षा न रखें और अपनी सेहत का ख्याल रखें.!

वृष राशि :- शुक्र आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के ग्यारहवें स्थान का संबंध हमारे आय और इच्छाओं की पूर्ति से होता है। शुक्र के इस गोचर से आपको अथाह धन लाभ होगा और आपके चेहरे की खुबसूरती बढ़ेगी। आपकी कोई इच्छा पूरी होगी। लेकिन इस दौरान आपके स्वभाव में बार-बार बदलाव आ सकते हैं। आपको बचपन की कोई बात याद आ सकती है। इस दौरान आप दूसरों से छिपाकर काम करने की कोशिश करेंगे.!

मिथुन राशि :- शुक्र का यह गोचर आपके दसवें स्थान पर होगा। जन्मपत्रिका के दसवें स्थान का संबंध हमारे करियर, राज्य और पिता से होता है। शुक्र के इस गोचर से आपका करियर बेहतर बनेगा। पिता के व्यापार में धन लाभ होगा। धर्मकर्म के कार्यों में आपकी रुचि बढ़ेगी। साथ ही पैसों के प्रति आपका आकर्षण बढ़ेगा। आपको अपने कार्यों में जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। प्रशासनिक कार्यों में सफलता मिलेगी.!

कर्क राशि :- शुक्र आपके नवें स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के नौवें स्थान का संबंध हमारे भाग्य से होता है। शुक्र के इस गोचर से आपकी किस्मत आपका पूरा साथ देगी। आपकी बौद्धिक क्षमता में वृद्धि होगी। आपके मनचाहे कार्य पूरे होंगे और 24 अप्रैल तक आपको पैसों की तंगी नहीं होगी। लेकिन मेहनत जारी रखें और व्यर्थ के कामों में पैसे खर्च करने से बचें। इस दौरान किसी तीर्थ स्थल पर जाना आपके लिए शुभ फलदायी होगा.!

सिंह राशि :- शुक्र का यह गोचर आपके आठवें घर में होगा। जन्मपत्रिका के आठवें स्थान का संबंध हमरे आयु से है। शुक्र के इस गोचर से आपके स्वास्थ्य में सुधार आयेगा। आप दूसरों से कही अपनी बात का मान रखेंगे और अपना वादा पूरा करेंगे। लेकिन 24 अप्रैल तक इस बात का ध्यान रखें कि किसी से कोई भी चीज उधार ना लें और दूसरों के झगड़ों में पड़ने से बचें। जीवनसाथी का स्वभाव आपके प्रति कुछ सख्त हो सकता है.!

कन्या राशि :- शुक्र का यह गोचर आपके सातवें खाने में होगा। जन्मपत्रिका के सातवें स्थान का संबंध हमारे जीवनसाथी से है। शुक्र के इस गोचर के प्रभाव से इस दौरान आपको कई महत्वपूर्ण यात्राएं करनी पड़ सकती हैं। साथ ही आपको अपने जीवनसाथी से प्रेम बनाकर रखने और अपनी संतान की पढ़ाई का ख्याल रखने की जरूरत है। 24 अप्रैल के बीच आपका समय बड़े ही सुख से बीतेगा। ब्यूटी प्रोडेक्ट के काम या ग्लैमर की दुनिया से जुड़े लोगों को फायदा मिलेगा.!

तुला राशि :- शुक्र आपके छठे घर में गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के छठे स्थान का संबंध हमारे मित्र, शत्रु और स्वास्थ्य से है। शुक्र के इस गोचर से आपके जीवन की गति ठीक बनी रहेगी। कार्यों में दोस्तों का साथ मिलेगा।आपको धन लाभ होगा और आपके भाईयों की तरक्की होगी। लेकिन सन्तान पक्ष से अधिक सुख की आशा न रखें। इस दौरान शत्रु पक्ष आपसे दूरी बनाकर रहेगा। 24 अप्रैल तक पहले एक काम को पूरी तरह से खत्म कर लेने के बाद ही दूसरा काम शुरू करेंगे, तो ही शुभ फल प्राप्त होंगे.!

वृश्चिक राशि :- शुक्र का यह गोचर आपके पांचवें खाने में होगा। जन्मपत्रिका के पांचवे स्थान का संबंध हमारे संतान, बुद्धि, विवेक और रोमांस से है। शुक्र के इस गोचर से संतान पक्ष से लाभ और जीवनसाथी से प्यार मिलेगा। धर्म के प्रति आपकी आस्था बढ़ेगी और परिवार के प्रति प्यार बढ़ेगा। साथ ही आपके बौद्धिक क्षमता में वृद्धि होगी। लवमेट के साथ रिश्ते अच्छे रहेंगे.!

धनु राशि :- शुक्र आपके चौथे स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के चौथे स्थान का संबंध हमारे भवन, भूमि, वाहन और माता से है। शुक्र के इस गोचर से आपको आर्थिक तंगी से मुक्ति मिलेगी और मस्तमौला लोगों से आपकी दोस्ती बढ़ेगी। किसी पैतृक संपत्ति से लाभ होगा। इस दौरान वाहन लेने का सपना पूरा हो सकता है। कार्यों में माता का सहयोग मिलने से कार्य पूरे होंगे.!

मकर राशि :- शुक्र आपके तीसरे स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के तीसरे स्थान का संबंध हमारे पराक्रम, भाई-बहन और यश से है। शुक्र के इस गोचर से आपको भाईबहनों से सुख और सहयोग मिलेगा। अब से 24 अप्रैल तक के बीच किसी तीर्थ स्थल की यात्रा करने से आपका मन प्रसन्न रहेगा और आप कुछ नया सोच पायेंगे। इस दौरान आपके मानसम्मान में वृद्धि होगी.!

कुंभ राशि :- शुक्र आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेगा। जन्मपत्रिका के दूसरे स्थान का संबंध हमारे धन और स्वभाव से है। शुक्र के इस गोचर से आजिविका में वृद्धि होगी, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और सांसारिक सुखों की प्राप्ति होगी। इस दौरान पशुपालन और कच्ची मिट्टी के काम से जुड़े लोगों को दोगुना फायदा होगा.!

मीन राशि :- शुक्र का यह गोचर आपके पहले स्थान पर, यानि लग्न स्थान पर होगा। जन्मपत्रिका में लग्न यानि पहले स्थान का संबंध हमारे शरीर और मुख से है। शुक्र के इस गोचर से आपको संतान का सुख मिलेगा। अगर आपका विवाह अभी तक नहीं हुआ है तो जल्द ही आपके लिए विवाह के प्रस्ताव आयेंगे.!

नोट :- ज्योतिष अंकज्योतिष वास्तु रत्न रुद्राक्ष एवं व्रत त्यौहार से सम्बंधित अधिक जानकारी ‘श्री वैदिक ज्योतिष एवं वास्तु सदन’ द्वारा समर्पित ‘Astro Dev’ YouTube Channel & www.vaidicjyotish.com & Facebook पर प्राप्त कर सकते हैं.II

नोट :- अपनी पत्रिका से सम्वन्धित विस्तृत जानकारी अथवा ज्योतिष,अंकज्योतिष,हस्तरेखा,वास्तु एवं याज्ञिक कर्म हेतु सम्पर्क करें...!
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print
नये लेख