Navratri Upay: नवरात्रों में करें यह उपाय,पूरी होगी आपकी हर मनोकामना

'ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री'

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

जय माता दी…..शास्त्रो के अनुसार जीवन के सभी क्षेत्रो में सफलता प्राप्त करने के लिए माँ दुर्गा की आराधना परम सुखदायी है,नवरात्रि माँ दुर्गा को अत्यंत प्रिय है.शास्त्रो में वर्णित है कि नवरात्रि में माँ दुर्गा अपने भक्तो के सभी कष्ट दूर करती है.ऐसा माना जाता है कि नवरात्र में किये गए सात्विक उपाय शीघ्र फलदायी होते है,नवरात्र में कुछ अचूक उपायों को करके भक्तो की सभी मनोकामनाएँ निश्चय ही पूर्ण होती है.आज के लेख में ऐसे ही नवरात्रि के अचूक उपाय.जिन्हें पूर्ण श्रद्धा एवं विश्वास से करने से जीवन में सुखो का वास रहेगा…..।

01. नवरात्रि में पूजा के समय प्रतिदिन माता को शहद एवं इत्र चड़ाना कतई भी न भूले.नौ दिन के बाद जो भी शहद और इत्र बच जाएँ उसे प्रतिदिन माता का स्मरण करते हुए खुद इस्तेमाल करें,मां की आप पर सदैव कृपा द्रष्टि बनी रहेगी….!

02. नवरात्र में माता दुर्गाजी को शहद को भोग लगाने से भक्तो को सुंदर रूप प्राप्त होता है व्यक्तित्व में तेज प्रकट होता है…..!

03. नवरात्री में माँ दुर्गा की आराधना “लाल रंग के कम्बल” के आसन पर बैठकर करना अति उत्तम माना गया है,इससे सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है…!

04. नवरात्र में स्थाई लक्ष्मी प्राप्ति के लिए नित्य पान में गुलाब की 7 पंखुरियां रखकर तथा मां दुर्गा को अर्पित करें….!

05.नवरात्र में प्रात: श्रीरामरक्षा स्तोत्र का पाठ करने से हर कार्य सफल होते है,कार्यों के मार्ग में आने वाली समस्त विघ्न बाधाएं शांत होती हैं..!

06. यदि किसी जातक का लाख प्रयासों के बावजूद भी कर्जे से पीछा नहीं छुट रहा है तो वह नवरात्री में माँ के श्री चरणों में 108 गुलाब के पुष्प अर्पित करें,प्रात: माता की पूजा के समय सवा किलो साबुत लाल मसूर लाल कपड़ें में बांधकर अपने सामने रख दें,घी का दीपक जलाकर माता के किसी भी सिद्ध मंत्र का 108 बार जाप करें। पूजा समाप्त होने के पश्चात मसूर को अपने ऊपर से 7 बार उसार कर किसी भी सफाई कर्मचारी को दान में दे दें,इससे माता की कृपा से कर्जें से छुटकारा मिलने का रास्ता बनने लगेगा…..!

07. यदि किसी व्यकित के ऊपर कर्ज है और लाख चाहने के बाद भी उतर नहीं पा रहा है तो वह जीवन भर का एक नियम बना ले कि उसे नित्य चींटीयों को शक्कर मिलाकर आटा / या पंजीरी ( आटे में चीनी को भून कर ) किसी पेड़ के नीचे या जहाँ पर चींटियों का बिल है वहाँ पर डालना है.इस प्रयोग को लगातार करते रहने से कर्ज समाप्त हो जाता है फिर इतनी आमदनी होने लगती है कि कर्ज को भविष्य में लेने की जरूरत ही नहीं रहती है,इस प्रयोग को अगर किसी शुभ मुहूर्त नवरात्र में किया जाय तो इसका शीघ्र ही फल मिलता है…!

08. नवरात्र के सोमवार और शनिवार के दिन शिवलिंग पर काले तिल और जल चढ़ाएं यह उपाय बीमारियों से मुक्ति दिलाने वाला बहुत सरल और कारगर उपाय है….!

09.नवरात्री की सप्तमी के दिन माँ कालरात्रि की पूजा की जाती है,माँ कालरात्रि की कृपा के लिए दुर्गा सप्तशती के 7वें और 10 वें अध्याय का पाठ करना चाहिए,माँ कालरात्रि की कृपा से शत्रुओं का नाश होता है राजद्वार,मुक़दमे में विजय मिलती है…!

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print
नये लेख