Shani Jayanti Upay: शनि जयन्ती विशेष उपाय

'ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री'

Shani Jayanti Upay: शनि जयन्ती विशेष उपाय
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

Shani Jayanti Upay: ॐ प्राम प्रीम प्रौम सः शनये नमः….इस वर्ष 19 मई को शनैश्चर जयंती मनाई जाएगी.इस दिन शनि देव की विशेष पूजा-आराधना-उपासना करने का विधान है.तथा शनि देव को प्रसन्नता हेतु इस जयन्ती के अवसर पर शनि ग्रह के मंत्रों व स्तोत्रों का पाठ-जप-हवन करना सर्वोत्तम रहता है.यदि आपकी जन्म पत्रिका दैत्य लग्न की हैं अथवा आपकी शनि की महादशा-अन्तर्दशा या आपकी साढ़े साती/ढैया चल रही हैं,तो आप इस विशेष मुहूर्त में शनि ग्रह के पूजन-उपाय कर शुभता प्राप्त कर सकते हैं,आज के लेख में ज्योतिर्विद डी.डी.शास्त्री जी द्वारा शनि जयन्ती से सम्वन्धित विशेष 09 उपाय.इन अचूक उपायों को कर आप भी शनि की शुभ दृष्टि प्राप्त कर सकते हैं.!

Shani Jayanti Upay: 01. शनि जयंती को काले रंग के कबूत्तर खरीदकर उसे दोनों हाथों से आसमान में उड़ा दें,कारागार अथवा कोर्ट-कचरी से सम्वन्धित वाद विवाद के मुक्ति मिलेगी.!

Shani Jayanti Upay: 02. शनि जयंती के दिन लोहे का त्रिशूल शिव,भैरव अथवा महाकाली मंदिर में अर्पित करें,कार्यों से सम्वन्धित अड़चनों से निवृत्ति प्राप्त होगी.!

Shani Jayanti Upay: 03. शनि जयन्ती के दिन काला जूता/चप्पल शनि जयंती के दिन किसी जरूरतमंद को देने से भाग्य के कपाट खुलेंगे.!

Shani Jayanti Upay: 04. शनि जयंती को 08 बादाम लेकर हनुमान मंदिर में जाएं,4 बादाम वहां रख दें और 4 बादाम घर लाकर किसी लाल वस्त्र में बांधकर धन स्थान पर रख दें.आर्थिक समस्याओं से मुक्ति मिलेगी.!

Shani Jayanti Upay: 05. शनि जयंती की पूर्व संध्या अर्थात शुक्रवार की रात्रि लोहे की कटोरी में सरसों का तेल रखकर शनि को प्रातः उठकर 04 मिनट अपना प्रतिबिम्ब देख उक्त छाया पात्र को दान करें,स्वास्थ्य सम्वन्धी समस्याओं से निवृत्ति मिलेगी.!

Shani Jayanti Upay: 06. शनि जयंती की पावन वेला पर काले उड़द को पीसकर जौ के आटे में मिलकर गोलियां बनाकर मछलियों को खिलाने से जल छाया सहित कुदृष्टि से मुक्ति प्राप्त होगी.!

Shani Jayanti Upay: 07. शनि जयंती के दिन धार्मिक स्थल अथवा शमशान भूमि पर पीपल का बृक्ष रोपित करें तथा 08 वर्ष तक उक्त बृक्ष की देखभाल करें,पितृदोष से मुक्ति मिलेगी,सन्तति का भाग्योदय होगा.!

Shani Jayanti Upay: 08. शनि जयंती के शुभ अवसर पर जौ+गहुँ+चने के आटे को भून कर शक्कर मिलकर चीटिंयों को खिलने से व्यापार सम्वन्धी अवरोध समाप्त होंगे,नये अवसर प्राप्त होंगे.!

Shani Jayanti Upay: 09. – शनि जयन्ती के शभ अवसर पर सूर्यास्त के बाद दशरथ कृत शनि स्तोत्र अथवा शनि चालीसा का पाठ,शनि मंत्रों का जाप करने से समस्त बाधाओं से निवृत्ति प्राप्त होगी.!

नोट :- अपनी पत्रिका से सम्वन्धित विस्तृत जानकारी अथवा ज्योतिष, अंकज्योतिष,हस्तरेखा, वास्तु एवं याज्ञिक कर्म हेतु सम्पर्क करें.!

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print
नये लेख