Ravi Pushya Yog 2024: रविपुष्य संयोग,जाने शुभ मुहूर्त महत्व व विशेष उपाय

'ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री'

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

जय नारायण की….वैदिक ज्योतिष शास्त्र में 27 नक्षत्र हैं,इनमें 8वें स्थान पर पुष्य नक्षत्र आता है, जो बेहद ही शुभ एवं कल्याणकारी नक्षत्र है, इसलिए इसे नक्षत्रों का सम्राट भी कहा जाता है,जब यह नक्षत्र रविवार के दिन होता है तो इस नक्षत्र एवं वार के संयोग से रवि पुष्य योग बनता है,इस योग में ग्रहों की सभी बुरी दशाएँ अनुकूल हो जाती हैं, जिसका परिणाम सदैव आपके लिए शुभकारी होता है,रवि पुष्य योग को रवि पुष्य नक्षत्र योग भी कहा जाता है.।

-:’Ravi Pushya Yog 2024: रविपुष्य संयोग शुभ मुहूर्त”:-

रविवार 7 जुलाई 2024,को धन लक्ष्मी योग,हर्षण तथा सर्वार्थ सिद्धि योग के संयोग में रविपुष्य योग का निर्माण हो रहा हैं,इस दिन पूजन हेतु सर्वोत्तम शुभ मुहूर्त 09 बजकर 01 मिनट से 11 बजकर 59 मिनट तक तथा 13 बजकर 31 मिनट से 14 बजकर 59 मिनट हैं,पुष्य नक्षत्र रविवार 07 जुलाई को प्रातः 05 बजे से आरम्भ होकर सोमवार 08 जुलाई 06बजकर 03 मिनट तक रहेगा.!

-:’Ravi Pushya Yog 2024: -:”इस तरह निर्मित होता है रवि पुष्य योग”:-

जिस दिन रविवार हो और पुष्य नक्षत्र हो रवि पुष्य योग कहलाता है. इन योगों द्वारा व्यक्ति को उसके कार्यों में सफलता प्राप्त होने की संभावना बढ़ जाती है.!

-:’Ravi Pushya Yog 2024:पुष्य नक्षत्र का महत्व”:-

पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों में श्रेष्ठ माना जाता है.वहीं पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों में राजा की उपाधि दी गई है.इस नक्षत्र में प्रारंभ किए गए कार्यों का फल बहुत उत्तम प्राप्त होता है.पुष्य नक्षत्र स्थायी होता है अत: इसके समय किए गए कार्यों में स्थायित्व का भाव मौजूद होता है.इस कारण से यदि आपको कुछ ऎसे काम करने हैं जिनमें आप जल्द से बदलाव की इच्छा न रखते हों ओर उसकी स्थिरता की चाह रखते हों तो यह नक्षत्र में करना बेहतर होता है.!

-:’Ravi Pushya Yog 2024:रवि पुष्य योग में कार्यों को आरम्भ करना अत्यधिक शुभ”

रवि पुष्य योग समस्त शुभ और मांगलिक कार्यों के शुभारंभ के लिए उत्तम माना गया है,यदि ग्रहों की स्थिति प्रतिकूल हो अथवा कोई अच्छा मुहूर्त नहीं भी हो, ऐसी स्थिति में भी रवि पुष्य योग सभी कार्यों के लिए परम लाभकारी होता है लेकिन विवाह को छोड़कर,इस योग में सोने के आभूषण, प्रॉपर्टी और वाहन आदि की खरीददारी करना लाभदायक होता है,रवि पुष्य योग में नए व्यापार और व्यवसाय की शुरुआत करना भी श्रेष्ठ बताया जाता है,!इसके अलावा यह योग तंत्र-मंत्र की सिद्धि एवं जड़ी-बूटी ग्रहण करने में विशेष रूप से उपयोगी होता है.।

1. इस दिन साधना करने से उसमें निश्चित ही सफलता प्राप्त होती है।
2. कार्य की गुणवत्ता एवं उसके प्रभाव में वृद्धि होती है।
3. धन वैभव में वृद्धि होती है।
4. यंत्र सिद्धि के लिए यह शुभ दिन होता है।
5. जन्मकुंडली में स्थित सूर्य के दुष्प्रभाव दूर होते हैं।
6. सूर्य का आशीर्वाद पाने के लिए इस दिन सुर्ख लाल वस्त्र पहनना शुभ होता है।
7. जीवन में आर्थिक समृद्धि आती है।

-:’Ravi Pushya Yog 2024:रवि पुष्य योग में करें यह विशेष उपाय”

1- रवि पुष्य योग में सुबह सूर्यदेव की पूजा और जल जरूर अर्पित करें,सूर्य देव की पूजा करने से मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा की प्राप्ति होती है.!
2- जिन लोगों की कुंडली में सूर्य की स्थिति कमजोर है वह सूर्य को जल जरूर चढ़ाएं और किसी पंडित को तांबे का दान करें.!
3- रवि पुष्य नक्षत्र के दिन चांदी और सोने के आभूषण खरीदना बहुत ही शुभ होता है,मान्यता है इस दिन खरीदारी करने से सुख और सौभाग्य की प्राप्ति होती है.!
4- रवि पुष्य योग में सूर्य से संबंधित मंत्रों का जाप करना अत्यंत शुभफलदायी रहेगा.!
5- रवि पुष्य योग में भगवान विष्णु संग माता लक्ष्मी की पूजा करें और लघु नारियल को लाल कपड़े में बांध कर धन रखने की जगह में रख दें.!

-:’Ravi Pushya Yog 2024:रवि पुष्य योग के शुभ संयोग पर अवश्य करें यह धार्मिक उपाय”:-

● रवि पुष्य योग के दिन गाय को गुड़ खिलाने से आर्थिक लाभ होता है.।
● रवि पुष्य योग के दिन मंदिर में दीपक जलाने से कार्य में आने वाली बाधा समाप्त होती है.!
● रवि पुष्य योग तांबे के लोटे में जल में लाल पुष्प और लाल चंदन डालकर सूर्य को अर्घ्य देने से शत्रु निष्क्रिय होते हैं.!

नोट :- ज्योतिष अंकज्योतिष वास्तु रत्न रुद्राक्ष एवं व्रत त्यौहार से सम्बंधित अधिक जानकारी ‘श्री वैदिक ज्योतिष एवं वास्तु सदन’ द्वारा समर्पित ‘Astro Dev’ YouTube Channel & www.vaidicjyotish.com & Facebook Pages पर प्राप्त कर सकते हैं.II

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print
नये लेख