Shani Uday Kumbh Rashi: शनि ग्रह कुम्भ राशि में उदय और सभी राशियों पर प्रभाव

'ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री'

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

नमो नारायण….कर्म प्रिय तथा न्याय के करक ग्रह शनि देव् अपनी राशि कुंभ में गोचर करते हुए 17 मार्च को प्रातः 04 बजकर 40 मिनट पर उदित हो जाएंगे,शनि के उदित होने पर जातकों को अनुकूल फल मिलने आरंभ हो जाते हैं,लोगों के जीवन में समस्‍याओं का अंत होने लगता है और भाग्य में वृद्धि होती है,शनि के उदित अवस्‍था में आने पर जातकों के जीवन में नई ऊर्जा का संचार होगा और आशा की नई किरण उत्‍पन्‍न होगी,जो लोग काफी समय से अपने प्रमोशन और इंक्रीमेंट के इंतजार में थे,उनका इंतजार खत्‍म होगा और उनको जल्‍द ही कोई खुशखबरी मिलेगी.!

30 वर्षों से भी अधिक अवधी का ज्योतिष के क्षेत्र में अनुभव रखने वाले “ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री” जी से जानिए सूर्य सूत शिव भक्त कर्म प्रिय न्याय कारक शनि ग्रह के अपनी राशि में उदित होने से आपकी राशि पर प्रभाव पडेगा कैसा प्रभाव.:-

मेष राशि :- मेष राशि के जातकों के लिए शनि दसवें और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं और यह आपके ग्यारहवें भाव में उदित होंगे,जिसके परिणामस्वरूप मेहनती और अनुशासित लोगों से आपके संपर्क जुड़ेंगे जिससे आपके व्यापार और पेशे में वृद्धि देखने को मिलेगी.इस दौरान आपकी इच्छाएं पूरी होंगी,अचानक से धन लाभ हो सकता है,कार्यक्षेत्र में प्रमोशन या वेतन वृद्धि होने के योग बनेंगे और व्यापार में भी अच्छा मुनाफा कमा सकेंगे.!

वृषभ राशि :- वृषभ राशि के लिए शनि नौवें और दसवें भाव के स्वामी हैं और यह एक योगकारक ग्रह हैं, जो अब दसवें भाव में उदित होने जा रहे हैं,शनि का उदय करियर को मजबूत करने के कई अच्छे अवसर लेकर आ सकता है,इस दौरान कार्यक्षेत्र में आपके बॉस व अन्य अधिकारी आपके काम की तारीफ करेंगे और आपको अपनी मेहनत का अनुकूल परिणाम प्राप्त होगा,यदि आप व्यापार करते हैं तो भी आपका व्यापार तेजी से आगे बढ़ेगा.!

मिथुन राशि :- मिथुन राशि के लिए शनि आठवें और नौवें भाव के स्वामी हैं और अब यह नौवें भाव में उदित हो रहे हैं,यदि आप उच्च शिक्षा के लिए आगे बढ़ने की योजना बना रहे हैं या देरी का सामना कर रहे हैं तो, इस दौरान आपकी ये इच्छा पूरी होगी,साथ ही लंबी दूरी की यात्रा और परिवार के संग तीर्थ यात्रा पर जाने की योजना बना सकते हैं,इसके अलावा बिज़नेस, नौकरी या घूमने के संबंध में लंबी दूरी की यात्रा या विदेश यात्रा पर जाने का योग बन सकता है.!

कर्क राशि :- इस अवधि में आपको पैतृक संपत्ति का लाभ भी प्राप्त होने की प्रबल संभावना बनती दिख रही है,अचानक धन प्राप्ति के योग हो सकते हैं,हालांकि अगर आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो एकदम से अधिक मात्रा में निवेश करना आपके लिए जोखिम भरा हो सकता क्योंकि अचानक धन हानि होने की भी आशंका है,ऐसे में आपको कम मात्रा में निवेश करने की सलाह दी जाती है।.यदि आप सरकारी नौकरी में हैं तो इस दौरान कई अन्य स्रोतों से अच्छी कमाई करने का मौका प्राप्त होगा,वहीं अगर आपका खुद का व्यापार है तो लाभ होने की संभावना है.!

सिंह राशि :- सिंह राशि के जातकों के लिए शनि छठे और सातवें भाव के स्वामी हैं, जो अब आपके सातवें भाव में उदित होने जा रहे हैं,जिसके परिणामस्वरूप व्यवसाय के मोर्चे पर आपकी कड़ी मेहनत रंग लाएगी,इसके साथ ही समाज में भी आपकी प्रतिष्ठा काफी बढ़ेगी,यदि आप वैवाहिक जीवन में समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो इस दौरान सभी समस्याओं से निजात पाएंगे,अगर कुंडली में शनि की स्थिति और दशा अनुकूल है तो आप एक शांतिपूर्ण वैवाहिक जीवन व्यतीत करेंगे,इसके अलावा नौकरीपेशा लोगों को नए अवसर प्राप्त होंगे और आपके मान-सम्मान में भी वृद्धि होगी.!

कन्या राशि :- शनि देव आपके पांचवें और छठे भाव के स्वामी हैं और शनि का कुंभ राशि में उदय आपके छठे भाव में होगा।,सरकारी सेवा या कानूनी सेवा जैसे वकालत आदि से जुड़े लोगों के लिए यह अनुकूल समय है,यदि कोई केस आपके विरुद्ध किसी न्यायालय में लंबित है तो उसका फैसला आपके पक्ष में आ सकता है,जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उन्हें इस संदर्भ में शुभ परिणाम मिलेंगे,वहीं अगर आप सरकारी नौकरी में हैं तो अपनी मेहनत के बल पर अलग पहचान प्राप्त करेंगे.!

तुला राशि :- तुला राशि के जातकों के लिए शनि एक योगकारक ग्रह हैं.यह आपके चौथे और पांचवें भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके पांचवें भाव में उदित होने जा रहे हैं,ऐसे में सामाजिक गतिविधियों से जुड़े लोगों के लिए यह अवधि अनुकूल रहने वाली है।,इस दौरान परोपकार और सामाजिक कार्य आपको आकर्षित करेंगे,इसके साथ ही आपके संबंध अपने बच्चों के साथ भी बेहतर होंगे,यदि आप व्यापार करते हैं तो इस दौरान नए सौदे कर सकते हैं और ऐसे लोगों के संपर्क में आएंगे जो आपके बिज़नेस को बढ़ाने में मदद करेंगे.!

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि के लिए शनि चौथे और तीसरे भाव के स्वामी हैं, जो अब चौथे भाव में उदित होने जा रहे हैं। यह समय कृषि व्यवसाय या रियल एस्टेट से जुड़े लोगों के लिए काफी अनुकूल साबित होगा,इस दौरान आपको अपनी मेहनत का फल प्राप्त होगा,इसके अलावा आप अपनी माता और परिवार के साथ क्वालिटी टाइम बताएंगे जिससे आपके संबंध बेहतर होंगे और सुख-सुविधाओं का आनंद लेंगे.!

धनु राशि :- धनु राशि वालों के लिए शनि महाराज दूसरे और तीसरे भाव के स्वामी हैं और अब यह आपके तीसरे भाव में उदित होने जा रहे हैं,यह समय उन फैसलों को लेने के लिए अनुकूल है जिन्हें आप लंबे समय से टालते आ रहे हैं,इस दौरान आप अपने शत्रुओं को परास्त करने में सफल रहेंगे,आप पेशेवर जीवन में उन महत्वपूर्ण जोखिमों को उठाने में सक्षम होंगे जो आपके व्यक्तित्व को विकसित करने में मदद करेंगे,इस अवधि में आपके बात करने का तरीका थोड़ा सख्त हो सकता है,अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें अन्यथा रिश्ते और दोस्ती में समस्या पैदा हो सकती है.!

मकर राशि :- शनि देव आपके लग्न और दूसरे भाव के स्वामी हैं, जो अब आपके दूसरे भाव में उदित होंगे,ऐसे में शनि आपको कड़ी मेहनत करके अपने जीवन का निर्माण करने के लिए प्रेरित करेंगे,आप अपनी मेहनत से पैसा कमाने में सक्षम होंगे,यदि आप पारिवारिक व्यवसाय से जुड़े हैं तो आप इसे धीरे-धीरे आगे बढ़ाने का प्रयास करते नजर आएंगे,जैसा कि शनि आपके दूसरे भाव में उदित हो रहे हैं और दूसरा भाव परिवार का भाव है,ऐसे में पारिवारिक रीति-रिवाज व परंपराओं के प्रति आपका झुकाव बढ़ेगा और आप एक अनुशासित व्यक्ति की तरह पेश आएंगे.!

कुंभ राशि :- शनि महाराज आपके लग्न भाव में उदित होने जा रहे हैं,शनि का कुंभ राशि में उदय होने से आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार संभव होगा,यदि आप अभी तक आर्थिक समस्याओं का सामना कर रहे थे तो इस दौरान आपकी आय का प्रवाह उत्तम रहेगा,आपका व्यक्तित्व प्रभावशाली होगा और आप भौतिकवादी दुनिया से थोड़ा अलग महसूस करेंगे,आप अपने व्यक्तित्व के विकास पर अधिक ध्यान देंगे और इस दौरान आपका झुकाव अध्यात्म की ओर अधिक रहेगा.!

मीन राशि :- शनि आपके ग्यारहवें और बारहवें भाव के स्वामी हैं और अब यह बारहवें भाव में उदित हो जाएंगे,शनि का कुंभ राशि में उदय होने के परिणामस्वरूप आपके खर्चों में कमी देखने को मिलेगी जिससे आप अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार करने में सक्षम होंगे,इस दौरान आप अपने शत्रुओं पर हावी रहेंगे,साथ ही अपनी बुद्धि से अपना काम निकालने में सफल रहेंगे,इसके अलावा आप किसी भी तरह से दूसरों की मदद करने के लिए तैयार रहेंगे.!

नोट :- ज्योतिष अंकज्योतिष वास्तु रत्न रुद्राक्ष एवं व्रत त्यौहार से सम्बंधित अधिक जानकारी ‘श्री वैदिक ज्योतिष एवं वास्तु सदन’ द्वारा समर्पित ‘Astro Dev’ YouTube Channel & www.vaidicjyotish.com & Facebook पर प्राप्त कर सकते हैं.II

नोट :- अपनी पत्रिका से सम्वन्धित विस्तृत जानकारी अथवा ज्योतिष,अंकज्योतिष,हस्तरेखा,वास्तु एवं याज्ञिक कर्म हेतु सम्पर्क करें...!
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print
नये लेख