2024 July Month Vrat Parv Special Issue: जुलाई माह व्रत पर्व विशेषाङ्क

'ज्योतिर्विद डी डी शास्त्री'

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print

‘ॐ गुरू ब्रह्मा गुरू विष्णु, गुरु देवो महेश्वरा.!
गुरु साक्षात परब्रह्म, तस्मै श्री गुरुवे नमः.II

जय नारायण की…..सनातन धर्म में प्रत्येक दिन किसी न किसी देवी-देवता की पूजा या उनसे संबंधित व्रत-त्योहार आदि से जुड़ा होता है.इसी कड़ी में यदि बात करें अंग्रेजी कैलेंडर के वर्ष के 7th Month July (जुलाई) महीने की तो व्रत-पर्वों के दृषिकोण से माह अत्यधिक महत्पूर्ण है यह मास शिव और शक्ति को समर्पित हैं क्यूंकि इस महीने एक ओर जहाँ आदिशक्ति के उपासना के पावन गुप्तनवरात्र समपन्न होंगे तो वहीँ दूसरी ओर भगवान शंकर का ह्रदय कहे जाने वाला पवित्र श्रावण महीने का आरम्भ भी इसी जुलाई के महीने में होने जा रहा हैं,इस महीना का आरम्भ होगा योगिनी एकादशी के व्रत पर्व से तत्पश्चात आषाढ़ अमावस के बाद गुप्त नवरात्रि में भगवती की उपासना होगी तो फिर श्री जगन्ननाथ रथयात्रा का उत्सव संपन्न होने के पश्चात् कर्क/श्रावण संक्रांति तथा श्री हरिशयनी एकादशी,आषाढ़ी पूर्णिमा को गुरु पूजन-वंदन भी जुलाई में ही सम्पन्न किया जाएगा,तत्पश्चात पवित्र श्रावण मास आरम्भ होगा तथा कामिका एकादशी के साथ इस मास का समापन होगा,इस माह में 14 जुलाई को सूर्य नारायण मिथुन राशि का गोचर पूर्ण कर कर्क राशि में प्रवेश करेंगे.!

ग्रह नक्षत्रों की दृष्टिकोण से जुलाई के महीने में 06,जुलाई शुक्र ग्रह कर्क राशि में प्रवेश करके के दो दिन बाद लम्बी अवधी तक वक्री रहने पश्चत भौतिक संसाधनों के कारक शुक्र ग्रह उदय होंगे.12 जुलाई मंगल बृषभ राशि में प्रवेश करेंगे 16,जुलाई सूर्य कर्क राशि में प्रवेश करेंगे 19,जुलाई बुद्ध सिंह राशि प्रवेश करेंगे 31,जुलाई को शुक्र ग्रह पुनः राशि परिवर्तन करते हुए सिंह राशि में प्रवेश करेंगे तथा इस महीने शनि कुम्भ राशि में वक्री अवस्था में ही गोचर करते रहेंगे,जुलाई के महीने में शंख योग,गजकेसरी योग,बुद्धादित्य योग,मालब्य योग शुक्रादित्य योग आदि शुभाशुभ योगों का होगा निर्माण.अंग्रेजी कैलेंडर के 7th Month में कब कौन सा तीज-त्योहार पड़ेगा,आइए विस्तार से जानने के लिए देखते हैं मई महीने का कैलेंडर…….

01 सोमवार गंडमूल
02 मंगलवार योगिनी एकादशी
03 बुधवार प्रदोष व्रत (कृष्ण)
04 गुरुवार मासिक शिवरात्रि
05 शुक्रवार आषाढ़ अमावस्या
06 शनिवार गुप्तनवरात्रि प्रारम्भ
06 शनिवार गुप्तनवरात्रि में करें यह विशेष उपाय,मनोवांक्षित सफलता होगी प्राप्त
06 शनिवार शुक्र ग्रह कर्क राशि में प्रवेश और आपकी राशि पर प्रभाव
07 रविवार जगन्नाथ रथ यात्रा
07 रविवार शुक्र ग्रह कर्क राशि में उदय और आपकी राशि पर प्रभाव
07 रविवार रविपुष्य संयोग,जाने शुभ मुहूर्त महत्व व विशेष उपाय
08 सोमवार गंडमूल प्रारम्भ
11 गुरुवार स्कन्द षष्ठी
12 शुक्रवार मंगल ग्रह का वृष राशि में प्रवेश और आपकी राशि पर प्रभाव
12 शुक्रवार विवस्वत सप्तमी
15 सोमवार भड़ली नवमी
16 मंगलवार कर्क/श्रावण संक्रांति
16 मंगलवार सूर्य कर्क राशि में प्रवेश और आपकी राशि पर प्रभाव
16 मंगलवार दक्षिणायन प्रारम्भ
17 बुधवार देवशयनी एकादशी
17 बुधवार चातुर्मास नियमादि प्रारम्भ
18 गुरुवार गंडमूल प्रारम्भ
19 शुक्रवार प्रदोष व्रत
19 शुक्रवार बुद्ध ग्रह सिंह राशि में प्रवेश और आपकी राशि पर प्रभाव
20 शनिवार श्रीसत्यनारायण व्रत
20 शनिवार कोकिला व्रत
21 रविवार आषाढ़ पूर्णिमा व्रत
21 रविवार गुरु-पूर्णिमा
22 सोमवार श्रावण प्रथम सोमवार व्रत
23 मंगलवार पंचक प्रारम्भ 09:21,बजे से
24 बुधवार श्रीगणेश संकष्टी चतुर्थी
26 शुक्रवार गंडमूल प्रारम्भ
29 सोमवार श्रावण द्वितीय सोमवार-रुद्राभिषेक विशेषाङ्क
31 बुधवार कामिका एकादशी
31 बुधवार शुक्र ग्रह सिंह राशि में प्रवेश और आपकी राशि पर प्रभाव

नोट :- ज्योतिष अंकज्योतिष वास्तु रत्न रुद्राक्ष एवं व्रत त्यौहार से सम्बंधित अधिक जानकारी ‘श्री वैदिक ज्योतिष एवं वास्तु सदन’ द्वारा समर्पित ‘Astro Dev’ YouTube Channel & www.vaidicjyotish.com & Facebook Pages पर प्राप्त कर सकते हैं.II

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp
Share on email
Share on print
नये लेख